Recent Posts

संतोषी माता की चालीसा

santoshi maa

माँ संतोषी जी की चालीसा ऑनलाइन पढ़ें या डाउनलोड करें। माता संतोषी की पूजा के लिए शुक्रवार का व्रत करने का विधान है। दोहा बन्दौं सन्तोषी चरण रिद्धि-सिद्धि दातार। ध्यान धरत ही होत नर दुःख सागर से पार॥ भक्तन को सन्तोष दे सन्तोषी तव नाम। कृपा करहु जगदम्ब अब आया तेरे धाम॥ चालीसा जय सन्तोषी मात अनूपम। शान्ति दायिनी रूप …

Read More »

माँ काली चालीसा

kali maa

देवी दुर्गा के अवतार माँ काली जी का चालीसा ऑनलाइन पढ़ें या डाउनलोड करें। माता काली का अवतार राक्षसों के विनाश के लिए हुआ है। ॥॥दोहा ॥॥ जयकाली कलिमलहरण, महिमा अगम अपार महिष मर्दिनी कालिका, देहु अभय अपार ॥ अरि मद मान मिटावन हारी । मुण्डमाल गल सोहत प्यारी ॥ अष्टभुजी सुखदायक माता । दुष्टदलन जग में विख्याता ॥1॥ भाल …

Read More »

श्री राम चालीसा

shree ram

राजा दशरथ और सबके प्रिय श्री राम जी का चालीसा ऑनलाइन पढ़ें या डाउनलोड करें। भगवान श्री राम पभु श्री विष्णु जी के सातवें अवतार हैं। आइए प्रभु श्री राम जी की आराधना और भक्ति चालीसा पढ़ कर करें। श्री रघुवीर भक्त हितकारी। सुन लीजै प्रभु अरज हमारी॥ निशिदिन ध्यान धरै जो कोई। ता सम भक्त और नहिं होई॥1॥ ध्यान …

Read More »

श्री लक्ष्मी चालीसा

mata lakshmi

धन, समृद्धि और वैभव की देवी माँ लक्ष्मी जी की चालीसा ऑनलाइन पढ़ें या डाउनलोड करें। श्री हरि विष्णु जी की पत्नी देवी माँ लक्ष्मी जी मन से ध्यान लगावें और धन वैभव पावें। ॥ दोहा॥ मातु लक्ष्मी करि कृपा, करो हृदय में वास। मनोकामना सिद्घ करि, परुवहु मेरी आस॥ ॥ सोरठा॥ यही मोर अरदास, हाथ जोड़ विनती करुं। सब …

Read More »

श्री गणेश चालीसा

shree ganesha

प्रथम पूज्य प्रभु श्री गणेश जी की चालीसा ऑनलाइन पढ़ें या डाउनलोड करें। भक्ति भाव से गणेश चालीसा को ध्यावें और अपना इच्छित फल पावें। ॥दोहा॥ जय गणपति सदगुणसदन, कविवर बदन कृपाल। विघ्न हरण मंगल करण, जय जय गिरिजालाल॥ जय जय जय गणपति गणराजू। मंगल भरण करण शुभ काजू ॥ ॥चौपाई॥ जै गजबदन सदन सुखदाता। विश्व विनायक बुद्घि विधाता॥ वक्र …

Read More »

श्री कृष्ण चालीसा

shree krishna ji

श्री कृष्ण जी को कई नामों से जाना जाता है, जैसे गोविंदा, मुकुंद, मधुसूदन, वासुदेव और माखन चोर। श्री कृष्ण के जीवन की लीलाओं को आम तौर पर कृष्ण लीला के रूप में रखा जाता है। उनका गुणगान महाभारत, भागवत पुराण और भगवत गीता में है, और कई हिंदू दार्शनिक, धार्मिक और पौराणिक ग्रंथों में इसका उल्लेख है। ॥दोहा॥ बंशी …

Read More »

माँ पार्वती चालीसा

mata parvati

पार्वती माता भगवान शिव जी की पत्नी हैं। वह पर्वत राज हिमावन और रानी मेना की बेटी हैं। पार्वती प्रभु गणेश जी और कार्तिकेय जी की मां है। पुराणों ने उन्हें भगवान भगवान विष्णु और नदी-देवी गंगा की बहन के रूप में संदर्भित किया है। ॥ दोहा ॥ जय गिरी तनये डग्यगे शम्भू प्रिये गुणखानी गणपति जननी पार्वती अम्बे ! …

Read More »

श्री विष्णु चालीसा

god vishnu ji

विष्णु हिंदू धर्म के प्रमुख देवताओं में से एक हैं, और वैष्णववाद की परंपरा में सर्वोच्च भगवानों में से एक है। विष्णु त्रिदेवों में “संरक्षक” है, जिसमें ब्रह्मा और शिव भी निहित हैं। विष्णु भगवान को नीले रंग के रूप में दर्शाया गया है और उनके चार भुजाएं हैं। ।।दोहा।। विष्णु सुनिए विनय सेवक की चितलाय । कीरत कुछ वर्णन …

Read More »

श्री राधा चालीसा

shree radha rani

श्री राधा को राधिका, राधारानी और राधे भी कहा जाता है। श्री राधारानी प्रभु श्री कृष्ण की अनन्य भक्त और प्रेमिका हैं। श्री राधा को माता लक्ष्मी का अवतार माना जाता है।   ।।दोहा।। श्री राधे वुषभानुजा , भक्तनि प्राणाधार । वृन्दाविपिन विहारिणी , प्रानावौ बारम्बार ।। जैसो तैसो रावरौ, कृष्ण प्रिय सुखधाम । चरण शरण निज दीजिये सुन्दर सुखद …

Read More »

माता पार्वती जी की आरती

parvati mata

माता पार्वती जी भगवान शिव की अर्धांगिनी हैं। माँ पार्वती बहुत ही दयालु, कृपालु और करुणामयी हैं। माता पार्वती की आरधना करने से घर परिवार मैं प्रसन्नता और सुख शांति रहती है। माता पार्वती जी की आरती (Mata Parvati Ji Ki Aaarti in Hindi)   जय पार्वती माता जय पार्वती माता ब्रह्मा सनातन देवी शुभफल की दाता ।। अरिकुलापदम बिनासनी …

Read More »